Favourite Poetry #6: Judai #4 (Hindi)

भूल कर ज़ात तुमको याद किया

बात बे बात तुमको याद किया

नींद नाराज़ हो गई हमसे

हमने जिस रात तुमको याद किया

शायर नामालूम

Your comments and opinion matter. Please leave a message. Cheers!