Favourite Poetry #6: Judai #4 (Hindi)

भूल कर ज़ात तुमको याद किया

बात बे बात तुमको याद किया

नींद नाराज़ हो गई हमसे

हमने जिस रात तुमको याद किया

शायर नामालूम